chitrakote Falls

0
चित्रकूट जलप्रपात
चित्रकूट जलप्रपात
विवरण ‘चित्रकूट जलप्रपात’ छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों में गिना जाता है। यह प्रपात ‘भारतीय नियाग्रा’ के नाम से भी जाना जाता है।
राज्य छत्तीसगढ़
ज़िला बस्तर
नदी इन्द्रावती नदी
ऊँचाई 90 फुट
कब जाएँ जुलाई-अक्टूबर
अन्य जानकारी आकार में यह झरना घोड़े की नाल के समान है और इसकी तुलना विश्व प्रसिद्ध नियाग्रा झरनों से की जाती है।

चित्रकूट अथवा चित्रकोट जलप्रपात सभी मौसम में छत्तीसगढ़ राज्य के बस्तर ज़िले में इन्द्रावती नदी पर स्थित एक सुंदर जलप्रपात है। हालांकि छत्तीसगढ़ राज्य में और भी बहुत-से जलप्रपात हैं, किन्तु चित्रकूट जलप्रपात सभी से बड़ा है।आप्लावित रहने वाला यह जलप्रपात पौन किलोमीटर चौड़ा और 90 फीट ऊँचा है।

  • इस जलप्रपात की विशेषता यह है कि वर्षा के दिनों में यह रक्त लालिमा लिए हुए होता है, तो गर्मियों की चाँदनी रात में यह बिल्कुल सफ़ेद दिखाई देता है।
  • जगदलपुर से 40 कि.मी. और रायपुर से 273 कि.मी. की दूरी पर स्थित यह जलप्रपात छत्तीसगढ़ का सबसे बड़ा, सबसे चौड़ा और सबसे ज्यादा जल की मात्रा प्रवाहित करने वाला जलप्रपात है।
  • इस प्रपात से इन्द्रावती नदी का जल प्रवाह लगभग 90 फुट ऊंचाई से नीचे गिरता है।
  • चित्रकूट जलप्रपात बहुत ख़ूबसूरत हैं और पर्यटकों को बहुत पसंद आता है। सधन वृक्षों एवं विंध्य पर्वतमालाओं के मध्य स्थित इस जल प्रपात से गिरने वाली विशाल जलराशि पर्यटकों का मन मोह लेती है।[1]
  • ‘भारतीय नियाग्रा’ के नाम से प्रसिद्ध चित्रकूट प्रपात वैसे तो प्रत्येक मौसम में दर्शनीय है, परंतु वर्षा ऋतु में इसे देखना अधिक रोमांचकारी अनुभव होता है। वर्षा में ऊंचाई से विशाल जलराशि की गर्जना रोमांच और सिहरन पैदा कर देती है।
  • आकार में यह झरना घोड़े की नाल के समान है और इसकी तुलना विश्व प्रसिद्ध नियाग्रा झरनों से की जाती है।
  • वर्षा ऋतु में इन झरनों की ख़ूबसूरती अत्यधिक बढ़ जाती है।यहाँ इन्द्रावती नदी विस्तारित होकर मनमोहक जलप्रपात का निर्माण करती है। इसे बस्तर का नियाग्रा भी कहा जाता है। फ्लड लाईट में जलप्रपात को देखना जहाँ अलग ही अनुभव प्रदान करता है वहीं पर्यटन विभाग की पूर्णसुविधा युक्त हट में रूकने का आनंद ही अलग है।



Leave A Reply

*