शिवनाथ नदी के तट पर आस्था का मेला

0

कार्तिक पूर्णिमा पर मोहारा शिवनाथ तट पर सूर्योदय से पहले आस्था की डूबकी लगाने श्रद्धालुओं की जमकर भीड़ उमड़ी। लोगों ने डूबकी लगाकर नदी में दीपदान भी किया। इसके बाद लोगों ने दोपहर से शिवनाथ तट लगे आस्था के मेले का मजा लिया। देर शाम तक मेले में रौनक बनी रही। लेकिन मेले में इस बार व्यापार ठप रहा। कारण बड़े नोटों के प्रचलन से दूर होना बताया गया। पांच सौ व हजार रुपए के नोट बंद होने से मेले में दुकान सजाकर बैठे व्यापारियों में काफी मायूसी दिखी। व्यापारियों ने कहा कि बड़े नोट बंद होने से व्यापार में काफी असर पड़ा है।

सूर्योदय से पहले पुन्नी स्नानमोहारा शिवनाथ नदी तट पर सोमवार की सुबह सूर्योदय से पहले आस्था की डूबकी लगाने लोगों का जनसैलाब उमड़ा। नदी के दोनों ओर शहर व अंचल से आए श्रद्धालुओं की काफी भीड़ बनी रही। लोगों ने पुन्नी स्नान के बाद भगवान भोलेनाथ की पूजा-अचर्ना कर आराधना की, वहीं शिवनाथ नदी में दीपदान भी किया। इधर मेला स्थल पर स्थित शिव मंदिर में कार्तिक पूर्णिमा को लेकर विशेष अनुष्ठान किया गया, दोपहर से शाम तक मंदिर में भक्तों की भीड़ जुटी रही। शिवनाथ नदी के तट पर लगने वाले पुन्नी मेला में दोपहर से ही रौनक लग जाती है और यह मेला हर साल कार्तिक पूर्णिमा पर बडे जोर शोरो से मनाते है




Leave A Reply

*