Godna Art Chhattisgarh

0

गोदना यानी शरीर पर चलती सूईयां… चेहरे पर झलकता दर्द… लेकिन साथ ही आंखों में संतोष और खुशी की मुस्कुराहट…।

छत्तीसगढ़ में ‘गोदना’ काफी प्रचलित है। लेकिन ‘गोदना’ केवल श्रृंगार ही नहीं बल्कि स्वस्थ जीवन का आधार भी है। विशेषज्ञों के अनुसार गोदना के जरिए शिराओं में प्रवाहित की जाने वाली दवाएं आजीवन भर शरीर को गंभीर बीमारियों से दूर रखती है। इस तरह से गोदना जापानी परंपरा के एक्यूपंचर की तरह है, जो हमारी परंपरा में फैशन और सेहत का अदभूत संगम है।




Leave A Reply

*