भूखो का अन्नदाता : रोटी बैंक

0

रोटी बैंक के सदस्य ‘कोई भी व्यक्ति भूखा न सोए’ इस उद्देश्य को लेकर रायपुर में एक सराहनीय कार्य कर रहे हैं। रोटी बैंक से जुड़े सदस्य रायपुर के लोगों से घर में बची रोटियां व आटा, सब्जी आदि एकत्रित कर उसकी पैकिंग कर वितरित करने का कार्य कर रहे हैं। वहीं रायपुर में मिल रहे रोटी बैंक के प्रतिसाद को देखते हुए अब बेमेतरा में भी रोटी बैंक की एक शाखा शुरू की जा रही है।

इस बारे में रोटी बैंक के संस्थापक विक्रम पाण्डेय ने बताया कि दिल्ली, उत्तरप्रदेश, बिहार के बाद करीब सालभर पहले रायपुर के प्रोफेसर कॉलोनी में रोटी बैंक की शुरुआत की गई थी। अब किसी भी घर में यदि रोटियां बचती है तो वे रोटी बैंक के सदस्यों को दे देते हैं। वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जो आटा, सब्जी भी प्रदान कर रहे हैं, जिनकी रोटियां बनाकर उन जरूरतमंद लोगों तक पहुंचाई जा रही है। लोग बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन अथवा अन्य सार्वजनिक जगहों पर रोटी के पैकेट सहर्ष स्वीकार कर अपनी भूख शांत कर रहे हैं।




Leave A Reply

*