फिंगेश्वर का फणीकेश्वर नाथ शिव मंदिर

0

अति प्राचीन है फिंगेश्वर का फणीकेश्वर नाथ शिव मंदिर छः मासी  रात का बना है यह मंदिर बिना कलश का है यह मंदिर कलश स्थापित करने से पहले ही भोर हो गया था इसलिए कलश को मंदिर में स्थापित कर दिया गया है खजुराहो के सामान ही इसमें महीन से महीन नक्कासी व कामुक प्रतिमा का निर्माण किया गया है इस मंदिर की निर्माण शैली भी अद्भुत है इस मंदिर को बनाने में बड़े बड़े चट्टान को तराश कर बनाया  गया है यह मंदिर अपने अंदर अनेको राज छुपाय हुवा है इसे स्थानीय लोग फिंगेश्वर का खजुराहो भी कहते है  फणीकेश्वर नाथ को पंचकोसी धाम के रूप में पूजा जाता है इस स्थान पर सीता माँ ने सिव जी की पूजा अर्चना की थी दूर दूर से भक्त यहाँ सावन मास में बाबा को जल से अभिषेक करने आते है इस मंदिर के सामने बेहद अद्भुत पांच शिखरों वाला मंदिर है मंदिर के अंदर राम जानकी हनुमान व अन्य देवी देवताओ की प्रतिमा है यह स्मारक छत्तीसगढ़ राज्य द्वारा संरक्षित है।




Leave A Reply

*